Diabetes ke Lakshan | शुगर के लक्षण और बचाओ के तरीके

मधुमेह (diabetes) आज के दौर मे सब से तेज़ बढ़ने वाली बीमारी है, Diabetes ke Lakshan और अक्सर लोगों को इस बेमारी का पता तब चलता है जब उसके लक्षण तेज़ी से दिखने लगते हैं |

हम लोग जो खाना खाते हैं वह शारीरिक और मनोवैज्ञानिक कार्यों को करने में मदद करने के लिए ऊर्जा का मुख्य स्रोत (source) है।

रक्त शर्करा या रक्त शर्करा का ऊंचा स्तर (High levels of glucose in blood) मधुमेह (diabetes) की स्थिति को जन्म देता है। कार्बोहाइड्रेट शरीर के लिए ऊर्जा का एक मुख्य स्रोत (source) हैं।

जब इंसान के शारीर मे इंसुलिन बनाने वाले होर्मोनेस इंसुलिन बनाना बंद करदेते हैं, या कोई इंसुलिन नहीं बनाता है, तो ग्लूकोज कोशिकाओं तक नहीं पहुंचता है और रक्त के भीतर रहता है, इसलिए रक्त मे ग्लूकोस का स्तर मधुमेह (diabetes) का कारण बनता है |

मधुमेह के तीन प्रकार हैं: टाइप 1, टाइप 2 और गर्भावधि मधुमेह, इनमें से सबसे आम है टाइप 2 मधुमेह।

टाइप 1 (diabetes) ये ज्यादातर छोटे बच्चों मे या 20 साल से कम उम्र के लोगों मे पाई जाती है |

जबकि गर्भावधि मधुमेह (diabetes) एक ऐसी स्थिति है जो कुछ महिलाओं को उनके गर्भधारण के दौरान होती है।

टाइप 2 मधुमेह जीवनशैली कारकों के कारण होता है और किसी भी उम्र में हो सकता है, मुख्य रूप से शरीर के उच्च वजन, उच्च रक्तचाप और गतिहीन जीवन शैली के साथ-साथ खराब आहार सेवन के कारण होता है।

Diabetes ke Lakshan | शुगर के लक्षण और बचाओ के तरीके

एक सर्वे से ये पता लगाया गया है कि भारत में लोगों में मधुमेह पिछले पंद्रह वर्षों में 100% बढ़ा है, इसलिए रक्त शर्करा (diabetes) को गंभीरता से लेने की आवश्यकता है क्योंकि भले ही आप पीड़ित हों या नहीं, आप जोखिम में हैं|

हम आपको diabetes ke lakshan शुगर के कुछ ऐसे लक्षण के बारे मे बतायंगे जिससे ये सिद्द होता है के आपको शुगर है या होने का अंदेशा है |

  1. पेशाब का ज्यादा आना : जब हमारे जिस्म मे blood glucose का इस्तर बढ़ता है तो हमें पेशाब भारी मात्रा मे आने लगता है, ऐसा इस्ल्ये होता है की जब शारीर मे glucose की मात्रा बढ़ जाती है तो इकठ्ठा हुआ glucose पेशाब के ज़रिये शारीर से बहर आने लगता है |
  2. नज़र का कमज़ोर होना : शुगर का असर सब से ज्यादा आँखों पर भी पड़ता है, sugar बढ़ने से लोगों की नज़र भी कमज़ोर होने लगती है |
  3. भूक का ज्यादा लगना पर वज़न का घटना : शुगर होने पर अक्सर लोगों की भूक बढ़ जाती है, मतलब वो पेट भर कर खाना खाते हैं पर कुछ देर बाद ही फिर से भूक लगने लगती है और बार बार खाना खाने पर भी वज़न नही बढ़ता है, उल्टा कम होने लगता है|
  4. जल्दी थकान का होना : अगर आपको ज़रा सा कम कर के बहत ज्यादा थकान होती है तो ये भी शुगर के लक्षण मे से एक है |
tired-due-to-diebetes
tired-due-to-diebetes

diabetes ke lakshan शुगर के लक्षण

गर्मी मे त्वचा का कैसे रखें ख्याल

शुगर से बचने के लिए सब से अच्छा है के अप रोजाना exercise करें Gym जायें, और इसके अलावा कुछ tips हम आपको बता ते हैं |

exercise-for-diabetes
exercise-for-diabetes

बीन्स
बीन्स आदर्श जटिल कार्बोहाइड्रेट स्रोत हैं। बीन्स में मध्यम प्रोटीन और प्रचुर मात्रा में फाइबर होने के कारण, इनका ग्लाइसेमिक लोड कम होता है, इससे बीन्स द्वारा अवशोषित कैलोरी की मात्रा कम हो जाती है। बीन में प्रतिरोधी स्टार्च बृहदान्त्र में बैक्टीरिया द्वारा किण्वित होता है जो कोलन कैंसर से भी बचाता है। विभिन्न प्रकार की फलियाँ जैसे दाल, किडनी बीन्स, ब्लैक बीन्स और पिंटो बीन्स शामिल करें|

Diabetes ke Lakshan | शुगर के लक्षण और बचाओ के तरीके

हरी सब्जियां
मधुमेह की रोकथाम के लिए ध्यान केंद्रित करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण खाद्य पदार्थों में से एक हरी और पत्तेदार सब्जियां हैं। हरी सब्जियों के सेवन से विटामिन सी और पॉलीफेनोल के उच्च सांद्रता स्तर के कारण टाइप 2 मधुमेह का खतरा कम हो जाता है जो एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-ऑक्सीडेंट यौगिकों के रूप में कार्य करता है। अपने आहार में हरी सब्जी शामिल करें जैसे- लेट्यूस, पालक, केल, और स्विस चर्ड।

बिना स्टार्च वाली सब्जियां
मधुमेह रोगियों के लिए गैर स्टार्च वाली सब्जियां आवश्यक हैं क्योंकि क्षतिग्रस्त कोशिकाओं की रक्षा और रक्त वाहिकाओं की सुरक्षा के लिए पर्याप्त मात्रा में गैर-स्टार्चयुक्त सब्जियों की आवश्यकता होती है। वे फाइबर के अच्छे स्रोत हैं और कार्ब्स में कम हैं। गैर स्टार्च वाली सब्जियां: बेल पेपर, शिमला मिर्च, खीरा, तोरी, लेटस और ब्रसेल्स स्प्राउट्स।

मेथी

मेथी के बीज में कई स्वास्थ्य गुण होते हैं। यह रक्त में शर्करा अवशोषण दर को धीमा कर देता है और मधुमेह के रोगियों में रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करता है। यह घुलनशील फाइबर का एक स्रोत है। इसमें एंटी-डायबिटिक गुण होते हैं जैसे कि हाइपरग्लाइसेमिक परिस्थितियों में इंसुलिन स्राव को बढ़ाना। अपने आहार में बीज को अपनी सब्जी की तैयारी में शामिल करके या एक गिलास गुनगुने पानी में भिगोए हुए मेथी के बीज के साथ मेथी को शामिल करें।

अगर अप मेरी दी गई जानकारी से कुछ पूछना चांटे हैं तो कमेंट कर के पुच सकत हैं |

News Reporter

1 thought on “Diabetes ke Lakshan | शुगर के लक्षण और बचाओ के तरीके

  1. The subsequent time I learn a blog, I hope that it doesnt disappoint me as much as this one. I mean, I do know it was my option to learn, but I really thought youd have something fascinating to say. All I hear is a bunch of whining about one thing that you could repair if you happen to werent too busy in search of attention.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *