yogi ji attack on school fees
- देश, राजनीती

Private स्कूलों की फीस को लेकर योगी सरकार का एहम फैसला

yogi ji attack on school fees, private schools

Private स्कूलों की फीस को लेकर योगी सरकार का एहम फैसला

स्कूल फीस को लेकर चल रहे विवाद पर उत्तर परदेश की योगी सरकार ने एक बोहत अहम फैसला लिया है |

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजोदगी  में मंगलवार को एक  कैबिनेट की बैठक करी गई जिसमे  प्राइवेट स्कूलों की मनमानी फीस वसूली को लेकर चर्चा हुई और इस पर एक अहम प्रस्ताव पास किया गया है |

up सरकार ने ये कहा है के इस प्रिस्तव को लागु करने के बाद प्राइवेट स्कूल वाले अपनी मनमानी नही कर सकेंगे और फीस उतनी ही ली जाएगी जितनी के जाएज़ है |

up सरकार के कैबिनेट मंत्री और  प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा और उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने  इस बारे मई सुचना दी |

इस बैठक मे जो पिरास्तव पास हुए हैं वो इस प्रकार हैं

  • प्राइवेट स्कूल और जितने भी निजी स्कूल हैं वो सालाना 7-8 % फीस बढ़ा सकते हैं, इससे ज्यादा फीस नही बढाई जा सकती, अगर कोई स्कूल ऐसा करता है तो उसके खिलाफ करवाई की जाएगी |
  • दूसरा पिरास्तव ये है के 12 तक की फीस एक बार मे ही ली जाएगी, इसके अलावा कोई फीस नही लगेगी और न ही बीच साल मई कोई फीस ली जाएगी |

श्रीकांत शर्मा ने बताया कि स्कूलों की फीस लेने की प्रक्रिया बोहत क्लियर होगी और  सिर्फ चार तरह की ही फीस कोई भी स्कूल ले सकते हैं, जिसमें  books फीस, admission फीस , exam फीस और annual फीस शामिल है |

डॉ. दिनेश शर्मा  के मुताबिक, अगर कोई अलग से  सुविधाएँ लेता है  जैसे van facility, Hostel, canteen आदि,तो इसके लिए तभी पैसा देना होगा जब अप ये सुविधा लेते हैं और अगर अप ये सुविधा नही लेते तो आपको इसके लये कोई फीस देने की ज़रूरत नही हैं |

जो जो फीस स्कूल लेता है उस फीस की स्लिप देना स्कूल के लये अनिवार्र्ये है और अगर स्लिप नही देता है तो उसकी complaint करें |

इस पिरास्तव के दायरे मे cbse और icsc बोर्ड दुआर चलाये जा रहे सभी स्कूल आते हैं |

कोई भी स्कूल स्कूल की ड्रेस को 5 साल से पहले नही बदल सकता और न ही किसी मुख्य दुकान से खरीदने के लये मजबूर कर सकता है |

सरकार के इस फैसले से पेरेंट्स को काफी रहत मिलती नज़र आरही है और ये up सरकार दुआर उठाया गया बोहत एहम क़दम है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *